विषय चयन के लिए छात्रों की काउंसिलिंग करेगा सीबीएसई बोर्ड

138

गोरखपुर: केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने संकाय व्यवस्था खत्म कर दी है। ऐसे में बोर्ड विषय चयन को लेकर विद्यार्थियों के संशय दूर करने के साथ ही विषय चयन में उनकी काउंसलिंग करेगा।

विषय चयन के लिए छात्रों की काउंसिलिंग करेगा सीबीएसई बोर्ड

बोर्ड ने स्पष्ट किया है कि इंजीनियरिंग और मेडिकल की तैयारी के लिए छात्रों को विज्ञान पढ़ना अनिवार्य है। इंजीनियरिंग की तैयारी करने वाले छात्रों को गणित के साथ रसायन व भौतिकी लेकर 11वीं में पढ़ाई करनी होगी। हंिदूी, अंग्रेजी के साथ वैकल्पिक के रूप में कोई भी विषय ले सकेंगे। मेडिकल की तैयारी करने वाले छात्रों को जीव विज्ञान के साथ रसायन व भौतिकी की पढ़ाई करनी होगी। छात्र हंिदूी, अंग्रेजी के साथ-साथ कोई भी वैकल्पिक विषय चुन सकेंगे। इसको लेकर बोर्ड को छात्रों को जागरूक करेगा। 11वीं में छात्रों के नामांकन की प्रक्रिया में किसी तरह की कोई दिक्कत न आए और सही विषय के साथ छात्रों का नामांकन हो, बोर्ड इसके लिए स्कूल स्टाफ को ट्रेनिंग देगा। जिला समन्वयक सीबीएसई अजीत दीक्षित का कहना है कि सीबीएसई ने इस बार संकाय व्यवस्था खत्म कर छात्रों के विषय चयन को लेकर बाध्यता समाप्त कर दी है। छात्रों को परेशानी न हो इसके लिए बोर्ड छात्रों की काउंसिलिंग करेगा।

’>>बोर्ड की काउंसलिंग में शामिल होकर मदद ले सकेंगे 11वीं के छात्र

’>>विद्यालयों के स्टाफ को भी प्रशिक्षित करेगा सीबीएसई बोर्ड