Teachers Transfer: शासन ने निरस्त किया स्थानांतरण शिक्षकों ने आवेदन में भरा था गलत क्षेत्र,एक हजार शिक्षकों का स्थानांतरण आवेदन निरस्त

170

बेसिक शिक्षा परिषद की अंतर जनपदीय स्थानांतरण प्रक्रिया पूरी हो चुकी है। तमाम शिक्षक आवंटित जिलों में ज्वाइनिंग करके कार्यभार ग्रहण भी कर चुके हैं। लेकिन जिन शिक्षकों के आवेदनों में नगर और ग्रामीण क्षेत्र भरने में त्रुटियां रह गई थीं, बेसिक शिक्षा परिषद ने ऐसे करीब एक हजार शिक्षकों के स्थानांतरण को निरस्त कर दिया है।

अपर मुख्य सचिव रेणुका कुमार ने इसका आदेश भी जारी कर दिया है। उन्होंने सभी जिला बेसिक शिक्षाधिकारी को इसकी जानकारी भी दी है कि शिक्षकों का स्थानांतरण निरस्त कर दिया गया है, सभी बीएसए उन्हें दोबारा उसी विद्यालय में ज्वाइन कराएं, जिस विद्यालय से उनका तबादला किया गया था।

इसलिए हुए निरस्त

बेसिक शिक्षा परिषद ने शिक्षकों के स्थानांतरण इसलिए निरस्त किए क्योंकि उन्होंने अपने आवेदनों को त्रुटिपूर्ण ढंग से भरा था। यह गलती विद्यालय का क्षेत्र भरने में की गई। दरअसल जो शिक्षक ग्रामीण क्षेत्र के थे, उन्होंने ग्रामीण के स्थान पर नगर क्षेत्र भर दिया। आवेदन के अनुसार उनका स्थानांतरण त्रुटिपूर्ण ढंग से नगर क्षेत्र में हो गया है। हालांकि उनके पुराने जिलों के जिला बेसिक शिक्षाधिकारियों को ऐसी स्थिति में सहायक अध्यापकों द्वारा आवेदन में ग्रामीण क्षेत्र के स्थान पर नगर क्षेत्र भरने को सत्यापित नहीं किया करना चाहिए, लेकिन उस स्तर से लापरवाही हुई। इस त्रुटि के कारण शिक्षकों को परेशानियों का सामना करना पड़ा। यही कारण है कि उनके स्थानांतरण निरस्त होने के बाद वर्तमान जिले के बीएसए ऐसे सभी शिक्षकों को पुराने जिले वापस भेज रहे हैं, जिससे शिक्षक नाराज हैं।

Teachers Transfer: शासन ने निरस्त किया स्थानांतरण शिक्षकों ने आवेदन में भरा था गलत क्षेत्र,एक हजार शिक्षकों का स्थानांतरण आवेदन निरस्त

जिले में करीब 30 शिक्षक

जिला बेसिक शिक्षाधिकारी राजीव कुमार यादव ने बताया कि अंतर जनपदीय स्थानांतरण में जिले में करीब 633 शिक्षकों का आवंटन हुआ था। इनमें से करीब 30 शिक्षकों के विद्यालय क्षेत्र गलत थे। ऐसे मामलों को रोककर शासन से मार्गदर्शन मांगा था। आदेश के अनुसार कार्रवाई की जाएगी।

अगली बार कर सकेंगे आवेदन

हालांकि शासन ने इस प्रक्रिया में नाम आने के बाद भी असफल हुए शिक्षकों को बड़ी राहत दी है। बेसिक शिक्षा की अपर मुख्य सचिव रेणुका कुमार ने बताया कि यह शिक्षक अगली बार होने वाली अंतर जनपदीय स्थानांतरण प्रक्रिया में आवेदन करने के लिए पात्र होंगे। स्थानांतरण निरस्त होने वाले शिक्षकों को उसी विद्यालय में तैनाती दी जाएगी, जहां से तबादले के लिए उन्होंने आवेदन किया था।