यूपी बोर्ड में हाईस्कूल व इंटर के विद्यार्थी ले सकेंगे एनसीसी

191

प्रयागराज : प्रदेश में यूपी बोर्ड से संबंद्ध 27 हजार माध्यमिक कालेजों में पढ़न वाले छात्र-छात्रओं के लिए खुशखबरी है। अब वे हाईस्कूल व इंटरमीडिएट में एनसीसी (राष्ट्रीय कैडेट कोर) की भी पढ़ाई कर सकेंगे। एनसीसी को वैकल्पिक विषय में शासन ने मान्य कर दिया गया है। ये विद्यार्थियों पर निर्भर है कि वे चाहें तो इस विषय की भी पढ़ाई कर सकते हैं। बोर्ड प्रशासन इसकी लिखित परीक्षा वर्ष 2023 से निरंतर कराएगा।

यूपी बोर्ड में हाईस्कूल व इंटर के विद्यार्थी ले सकेंगे एनसीसी

माध्यमिक शिक्षा परिषद (यूपी बोर्ड) में एनसीसी नया विषय नहीं है, बल्कि अभी तक इसकी पढ़ाई अतिरिक्त विषय के रूप में कराई जाती रही है। बोर्ड प्रशासन ने नौ फरवरी 2021 को एनसीसी को वैकल्पिक विषय के रूप में मान्य करने का प्रस्ताव भेजा था। शासन ने इस पर मंथन करने के बाद सात अप्रैल को आदेश कर दिया है। ऐसे में छात्र-छात्रएं इसी वर्ष से एनसीसी की हाईस्कूल व इंटर में वैकल्पिक विषय के रूप में पढ़ाई कर सकते हैं। असल में, केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड यानी सीबीएसई में एनसीसी की पढ़ाई होती है, उसी तर्ज पर यूपी बोर्ड में पहले कोर्स तैयार किया गया और अब उसे वैकल्पिक विषय के रूप में मान्य किया गया है। इसकी लिखित परीक्षा 2023 से कराई जाएगी। वहीं, प्रायोगिक परीक्षा संबंधित बटालियन स्तर पर होगी।

हाईस्कूल में छह विषय वैकल्पिक : शासन ने हाईस्कूल में सिर्फ एनसीसी ही नहीं छह विषयों को वैकल्पिक रूप में मान्य किया है। इनमें प्लंबर, इलेक्ट्रीशियन, आपदा प्रबंधन, सोलर सिस्टम रिपेयर, मोबाइल रिपेयर व एनसीसी शामिल हैं। यानी अब इस कक्षा के छात्र-छात्रएं हंिदूी, अंग्रेजी, विज्ञान, गणित व सामाजिक विज्ञान के साथ छह विषयों में एक कोई भी विषय चुन सकते हैं। यह कदम छात्र-छात्रओं की एनसीसी के प्रति ललक जगाने के लिए उठाया गया है।

इंटर में मानविकी वर्ग वालों को मौका

इंटरमीडिएट में पढ़ने वाले विज्ञान व कामर्स वर्ग के छात्र-छात्रओं को एनसीसी पढ़ने का मौका नहीं मिलेगा। सिर्फ मानविकी यानी कला वर्ग के विद्यार्थी ही एनसीसी को वैकल्पिक विषय के रूप में चुन सकते हैं। इसके अलावा 17 अन्य विषय भी वैकल्पिक विषयों में शामिल हैं।