चुनाव के दौरान कोरोना से 74 कर्मचारियों की मौत

171

प्रयागराज : कोरोना संक्रमण काल में कराया गया त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव तमाम लोगों के लिए घातक सिद्ध हुआ। इसमें चुनाव ड्यूटी करने वाले हर जिले में कई कर्मचारियों और अधिकारियों की मौत हो गई है। प्रयागराज में चुनाव के दौरान 74 कर्मियों की मौत हुई है। अब इनके परिवार वालों को 30-30 लाख रुपये की आर्थिक मदद दी जाएगी।

जिले में पहले चरण में 15 अप्रैल को चुनाव करवाया और फिर दो मई को मतगणना कराई गई। चुनाव के दौरान तमाम कर्मचारियों को कोरोना हुआ तो वह ड्यूटी नहीं कर सके। कोरोना के संकट के चलते चुनाव कराने में प्रशासन को परेशानी का सामना करना पड़ा था। चुनाव और मतगणना के दौरान कर्मचारी कम पड़ गए थे। किसी तरह चुनाव तो करवा लिया गया। लेकिन इस दौरान कोरोना से संक्रमित कई कर्मचारियों की जान चली गई। चुनाव के चलते जान गंवाने वालों का मुद्दा अखबारों के जरिए सरकार तक पहुंचा गया। उसके बाद प्रदेश सरकार ने चुनाव के दौरान कोरोना से जान गंवाने वाले कर्मचारियों के परिवार वालों को 30 लाख रुपये देने की घोषणा की है।

वहीं इस दौरान जिन कर्मचारियों की कोरोना के बजाय अन्य बीमारी से मौत हुई होगी, उनके परिवार वालों को 15 लाख रुपये दिए जाएंगे। प्रदेश सरकार का निर्देश मिलते ही डीपीआरओ कार्यालय में इसके आकड़े जुटाए जाने लगे। डीपीआरओ रेणू श्रीवास्तव ने बताया कि चुनाव ड्यूटी करने वाले 74 कर्मियों की कोरोना से मौत हुई। इसमें 25 बेसिक शिक्षा परिषद के शिक्षक, 19 माध्यमिक शिक्षा परिषद के शिक्षक, पांच ग्राम विकास अधिकारी, तीन कर्मचारी पंचायतीराज विभाग व कुछ अन्य विभागों के कर्मचारी हैं।