UPTET 2020 व शिक्षक भर्ती की दो माह में दो अहम परीक्षाएं स्थगित

177

प्रयागराज : प्राथमिक स्तर की परीक्षा कराने वाली संस्था को दो माह में दो अहम परीक्षाएं स्थगित करना पड़ा है। ये नौबत इसलिए आई क्योंकि शासन ने दोनों प्रकरणों में अनुमति देने में देरी की। परीक्षा संस्था ने तय समय पर प्रस्ताव भेजे थे लेकिन, वे लंबे समय तक अनुमति के इंतजार में लटके रहे। हालांकि दोनों परीक्षाओं को अलग वजहों से टालना पड़ा है। अब हालात सामान्य होने पर ही दोनों परीक्षाओं की तारीखें नए सिरे से तय होंगी।

परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय उप्र ने फरवरी माह में ही उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (यूपीटीईटी) 2020 कराने का प्रस्ताव भेजा था लेकिन, उस पर मुहर करीब एक माह बाद 15 मार्च को लग सकी। उस समय शासन ने आवेदन से लेकर परीक्षा व परिणाम तक की समय सारिणी घोषित कर दी। इसमें 11 मई को विज्ञापन, 18 मई से ऑनलाइन पंजीकरण व आवेदन और 25 जुलाई को परीक्षा होनी थी। इस इम्तिहान के बाद ही प्राथमिक स्कूलों की शिक्षक भर्ती परीक्षा होती है। यदि उसी समय आवेदन लिए जाते तो शायद अब तक परीक्षा हो जाती। लेकिन, इधर कोरोना संक्रमण की वजह से परीक्षा के साथ ही उसकी आवेदन आदि की प्रक्रिया रोकनी पड़ी है।

इसी तरह से प्रदेश के तीन हजार से अधिक अशासकीय सहायताप्राप्त जूनियर हाईस्कूलों में प्रधानाध्यापक व सहायक अध्यापक के 1894 पदों की लिखित परीक्षा 18 अप्रैल को होना प्रस्तावित थी। इसके आवेदन हो चुके थे लेकिन, परीक्षा के ठीक दूसरे दिन त्रिस्तरीय ग्राम पंचायत चुनाव होने की वजह से कुछ दिन पहले ही परीक्षा स्थगित करनी पड़ी, क्योंकि कई जिलों के डीएम ने इम्तिहान कराने में असमर्थता जताई थी।

अब इन दोनों परीक्षाओं की नई तारीखें हालात सामान्य होने के बाद ही तय होंगी। साथ ही प्राथमिक स्कूलों की शिक्षक भर्ती की परीक्षा के लिए भी प्रतियोगियों को इंतजार करना पड़ेगा।

’>>18 अप्रैल को एडेड जूनियर हाईस्कूल शिक्षक भर्ती पंचायत चुनाव से टली

’>>अब यूपीटीईटी 2020 का संक्रमण से विज्ञापन व आवेदन रोकना पड़ा